Hard Disk Drive Vs Solid State Drive मैं क्या अंतर होता है |

हेलो दोस्तों आज हम बात करेंगे हार्ड डिस्क ड्राइव  और सॉलि़ड स्टेट ड्राइव में क्या अंतर होता है| जब भी हम लोग कंप्यूटर खरीदने जाते हैं तो हमसे पूछा जाता है कि आप SSD या फिर HDD दोनों में से कौन सी लगवाना चाहते हैं|

लेकिन हमें दोनों के बारे में ही नहीं पता होता इसलिए हम कोई भी लगवा लेते हैं लेकिन आज हम आपको बताएंगे कि इन दोनों में क्या अंतर है और किस का क्या काम होता है इसको जानने के बाद आप कभी भी कंफ्यूज नहीं रहेंगे और आपको पता होगा दोनों के बीच में क्या अंतर होता है|

SSD और HDD

Hard Disk Drive Vs Solid State Drive
All Logos & Trademark Belongs To Their Respective Owners.

जापान कंप्यूटर खरीदने जाते हैं तो हमें ऑफलाइन या ऑनलाइन दोनों ही कार्यों में स्टोरेज डिवाइस की जरूरत पड़ती है लेकिन हमें यह नहीं पता होता कि हम दोनों में से कौन सी खरीदें SSD या फिर HDD तकनीकी विशेषता देखे तो दोनों का काम एक जैसा ही है लेकिन दोनों की विशेषताएं बहुत ही अलग अलग है दोनों का कार्य शैली भी बहुत अलग है|

इन दोनों में अंतर जाने के लिए हमें दोनों की विशेषताएं कार्यशैली और इनके दोनों बीच का अंतर समझना होगा इसके बाद यह फैसला ले पाएंगे कि इन दोनों में से हमें किस चीज की जरूरत है|

सबसे पहले हम बात करते हैं एच डी डी के बारे में

अगर बात की जाए दुनिया की सबसे पहली हार्ड डिस्क के बारे में तो बहुत सन 1956 में आईबीएम कंपनी द्वारा बनाई गई थी इस हार्ड डिस्क में डाटा को सेव करने के लिए मैग्नेटिक डिस्क का उपयोग किया जाता था|

इसमें डाटा सेव करने के लिए  ट्रेनिंग लेटर लगा होता था जिसकी रोटेशन स्पीड 3600 प्रति मिनट घूमता था|

आजकल जो हार्डडिस्क बनाई जाती हैं उनकी घूमने की स्पीड 15000 आरपीएम तक है कहा जाता है हार्ड डिस्क जितनी तेजी से घूमेगी उतनी ही तेजी से आपके डांटे को तोड़ कर पाएगी और रीड कर पाएगी और लिख पाएगी|

Hard Disk Drive Vs Solid State Drive

हार्ड डिस्क डाटा को स्टोर करके रखने के लिए बहुत ही ज्यादा विश्वसनीय माध्यम है लेकिन अगर मिट्टी का कोई भी कन्या धूल का कोई भी कर आप की हार्ड डिस्क के अंदर गलती से भी चला जाए तो आप की हार्ड डिस्कCRASH हो सकती है|

खराब हो सकती है इसीलिए इसकी जो पैकिंग होती है वह पूरी तरह से फेल होती है कि इसके अंदर किसी भी तरीके से कोई मिट्टी किया दूर तक ना जा सके|

अगर हार्ड डिस्क की बात की जाए तो बाजार में  1tb से लेकर 10tb तक हार्ड डिस्क उपलब्ध है जिन्हें आप बहुत ही मामूली कीमत पर खरीद सकते हैं |

अब हम बात करेंगे SSD के बारे में

SSD  के अंदर मैग्नेटिक डिस्क नहीं होती है इसके अंदर बहुत सारी चिप लगी होती है जिसकी मदद से यह काम करती है और इसी के कारण यह हार्ड डिस्क से बहुत तेजी से काम करती है|

यह एक नॉन वोल्टेज मेमोरी होती है जिसकी मदद से अगर लाइट चली भी जाए फिर भी इसके अंदर का डाटा नहीं उठता है डाटा इसके अंदर से भी रहता है|

SSD के अंदर एक कंट्रोलर होता है जिसे SSD का दिमाग भी कहा जाता है एसएसटी का कंट्रोलर SSD के अंतर डाटा को सेव करता है और इसे समय-समय पर क्लीनअप भी करता है|

तीन प्रकार की SSD

साइज के मुकाबले देखा जाए तो SSD कई प्रकार की होती है यह एक बड़े मोबाइल की बैटरी के साइड की भी होती है और स्टैंडर्ड साइज की एसएसटी 1.8 इंच की होती है और 2.5 इंच की भी होती है और 3.5 इंच की भी होती है|

यह बहुत ही आसानी से आपके लैपटॉप या कंप्यूटर में फिट हो जाती है| SSD बिल्कुल सामान्य  लैपटॉप की हार्ड डिस्क के तरह ही होती है इसीलिए यह बहुत ही आसानी से फिट हो जाती है|

कीमत

अगर कीमत की बात की जाए तो SSD बहुत ही महंगी होती है 1tb 2.5 inch  ₹13800 तक की आती है उसके मुकाबले में अगर HDD की बात की जाए तो 1tb ₹3000 की आती है|

कार्यशैली

अगर SSD के कार्यशैली के बारे में बात की जाए तो यह 30 सेकंड में 40 जीबी तक का डाटा ट्रांसफर कर सकती है और इसके मुकाबले में  HDD की रफ्तार काफी कम है|

SSD में कोई भी moving part नहीं होता मतलब इसके अंदर कोई भी चलने वाली चीज नहीं होती जिसकी वजह से इसके खराब होने की संभावना ना के बराबर होती है जबकि एच डी डी में एक रोटेशन करने वाला PART होता है जो खराब हो सकता है और उसकी वजह से एसटीडी भी खराब हो सकती है|

SSD के अंदर कोई भी घूमने वाला PART नहीं होता जिसके कारण ही आवाज भी नहीं करती और गर्म भी नहीं होती है और बहुत ही आसानी से अपना कार्य करती रहती है जबकि HDD के अंदर घूमने वाला PART होता है और जिसकी वजह सेयह बहुत आवाज भी करता है और इसके खराब होने के चांस भी होते हैं जिसकी  अबवजह से यह गर्म भी होता रहता है|

अब आपको दोनों के बीच का अंतर पता लग चुका है इसलिए आपको मालूम होगा कि आपने दोनों में से कौन सी खरीदनी है|

Leave a Comment